सोचा नहीं था ,ऐसा भी समय आएगा |अपने ही घर में,नजरबंद होकर रह जाएगे |किस्मत थमी हुईं,जिंदगी रुकी हुईं नजर आएगी |

Read more